MP: इंदौर, नीमच, मंदसौर जिलों के शत-प्रतिशत घर बिजली से हुए रोशन

0
20

सौभाग्य योजना से 7.30 लाख घरों में पहुँची बिजली
अक्टूबर तक 43 लाख घरों को बिजली कनेक्शन से जोड़ने का लक्ष्य

भोपाल : मध्यप्रदेश के ऐसे सभी घरों को बिजली कनेक्शन से जोड़ा जा रहा है जो वर्षों से इसके अभाव में रोशनी से वंचित थे। इसके लिये क्रियान्वित की जा रही सहज बिजली हर घर योजना सौभाग्य योजना के सार्थक परिणाम सामने आ रहे है। विभिन्न एजेंसियों के सर्वे और जुटाई गई जानकारी के आधार पर अंधेरे में डूबे घरों को बिजली कनेक्शन की सुविधा देकर रोशन किया जा रहा है। सर्वे के आधार पर प्रदेश में आगामी अक्टूबर तक 43 लाख घरों को बिजली कनेक्शन से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। सौभाग्य योजना के क्रियान्वयन से अब तक प्रदेश के 7 लाख 30 हजार से अधिक घरों को बिजली कनेक्शन दिया जा चुका है।
प्रदेश के 3 जिले ऐसे हैं जिनके शत-प्रतिशत घर सौभाग्य योजना के शुरू होने के बाद बिजली से जगमग हो चुके हैं। इनमें इंदौर, नीमच, मंदसौर जिलों ने शत-प्रतिशत लक्ष्य की पूर्ति कर ली है। इनके अलावा शाजापुर 69.08 प्रतिशत, देवास 59.65 प्रतिशत, बुरहानपुर 54 प्रतिशत, रतलाम 46.65 प्रतिशत, गुना 39.5 प्रतिशत, खंडवा 34.48 प्रतिशत, धार 29.79 प्रतिशत, झाबुआ 29.52 प्रतिशत, उज्जैन 24.66 प्रतिशत, नरसिंहपुर 24.41, टीकमगढ़ 22.55 और भोपाल 22.52 प्रतिशत उपलब्धि के साथ आगे है। बिजली विभाग का अमला दुर्गम स्थल पर बसे गाँवों तक पहुँचकर बिजली कनेक्शन विहीन घरों को बिजली मुहैया करवा रहा है।
सौभाग्य योजना के क्रियान्वयन में तीन विद्युत वितरण कंपनी और उनका अमला सक्रिय है। पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को क्षेत्र के 20 जिलों के 15 लाख 7 हजार 20 कनेक्शन विहीन घरों को बिजली से जोड़ने का लक्ष्य दिया गया है। कंपनी ने अब तक 2 लाख 18 हजार 276 घरों को बिजली कनेक्शन से जोड़ा है। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने क्षेत्र के 16 जिलों के 18 लाख 55 हजार 325 बिजली कनेक्शन विहीन घरों के विद्युतीकरण के लक्ष्य के विरूद्ध 3 लाख 521 घरों को रोशन किया है। इसी प्रकार पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा अपने क्षेत्र के 15 जिलों में 7 लाख 16 हजार 189 बिजली कनेक्शन विहीन घरों को बिजली सुविधा मुहैया करवाने के लक्ष्य के विरूद्ध 2 लाख 11 हजार 270 में बिजली कनेक्शन उपलब्ध करवा दिए गए हैं।
सौभाग्य योजना में 60 प्रतिशत राशि केन्द्र से अनुदान के रूप में उपलब्ध करवाई जा रही है। शेष 40 प्रतिशत राशि का प्रबंध राज्य शासन एवं तीनों विद्युत वितरण कंपनी द्वारा किया जा रहा है। योजना में आर्थिक, सामाजिक रूप से पिछड़े हितग्राहियों को नि:शुल्क कनेक्शन दिए जा रहे हैं। अन्य हितग्राहियों से 500 रूपए की राशि 10 किश्तों में मासिक विद्युत बिल के साथ ली जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here